उठ जाग मुसाफिर भोर भई………

बचपन से लेकर आज तक सुनते आ रहे है, ‘सुबह जल्दी उठो और रात को जल्दी सो जाओ’| मगर आज तक अपनी इस आदत को सुधार नहीं पाए| जब तक हमें कोई काम न हो, सुबह उठने की हमें जल्दी नहीं होती| कई बार सुबह उठने की सोचते है, मगर उठ नहीं पाते| इस आदत का असर हमारी सेहत पर भी होता है, फिर भी हम सोचते रहते है की सुबह उठेंगे, आज नहीं कल से ….| उस कल के इन्तजार में कई महीने, कई साल निकल जाते हैं|
फिर भी सोने उठने की शैली में सुधार नहीं करते| एक पुरानी कहावत प्रचलित है -” तीन बजे जागे सुयोगी, चार बजे सुसंत, पांच बजे जागे सो महात्मा, छ: बजे सो भगत| बाकी सब ठगत| “इस कहावत को अगर हम गहराई से समझे, तो शायद समझ में आये की समय पर सोना और सही समय पर जागना क्योँ जरुरी है? ‘जो लोग समय पर सोते हैं और उठते हैं उनकि जैविक घड़ी उसी प्रकार से सेट हो जाती है और उन्हें अनिद्रा की समस्या से बचाती है| रात को अच्छी नींद लेने के कारण मस्तिष्क चार्ज हो जाता है और बेहतर तरीके से काम करता है| सुबह-सुबह व्यायाम करने से दिन की शुरुआत अच्छे तरीके से होती है और आपको अपनी व्यस्त दिन चर्या में समय प्रबंधन में कठिनाई नहीं होती| जब हम जल्दी सोने और उठने की आदत बना लेते हैं, तो हम स्वयं को अधिक स्वस्थ और प्रसन्न महसूस करेंगे| जो लोग सुबह जल्दी उठते हैं, उन्हें अपने जीवन से जुड़ी हर महत्वपूर्ण कार्य के लिए समय मिल जाता है|आयुर्वेद में ब्रह्म मुहूर्त की वायु को अमृत के समान माना गया है| इस समय उठ कर टहलने से शरीर में अद्भुत शक्ति का संचार होता है| इस समय उठ कर पढने से स्मरण शक्ति बदती है| यही नहीं जल्दी उठने से सौन्दर्य, बल, बुद्धि और स्वास्थ्य की प्राप्ति होती है| अपने काम को समय पर सही ढंग से पूरा कर पाते हैं| सोचने समझने की क्षमता में वृद्धि होती है| सोच सकारात्मक ही नहीं बल्कि हम अपने काम को भी सही दिशा दे पातें हैं| इस लिए सभी को समय पर सोने और जगने की आदत बना लेनी चाहिये|

how to invest in binary optionsчугунная посуда биол купитьbanc de binary zahlt nicht auscowonOptionsкачатьразработка сайта ценаотзывы никаслобановский супермаркет

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

* Copy This Password *

* Type Or Paste Password Here *

11,436 Spam Comments Blocked so far by Spam Free Wordpress

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>